Blogging kya hai Kaise Shuru Kare

Spread the love
  • 20
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  
    20
    Shares

Blogging kya hai और शुरू करने के लिए क्या आवश्यक है। हम ब्लॉग्गिंग करना चाहते  है । पहले जानना होगा की इस क्षेत्र में क्या करना होता है । इसमें काम करने के लिए किनके बारे जानना आवश्यक है । पहले हमें जाना चहिये ब्लॉग किसे कहते है , ब्लॉग्गिंग क्या है और करने क्या करना पड़ता है ,  ब्लॉगर कौन होता है  ,  पर्सनल  ब्लॉग्गिंग और  प्रोफेशन  ब्लॉग्गिंग क्या है , किस विषय पर ब्लॉग्गिंग करेंगे , डोमेन क्या है , होस्टिंग क्या है ,  CMS क्या है  ,  प्लेटफार्म कौन से है ब्लॉग्गिंग करेने के लिए  , SEO क्या है , On  page  SEO  और  Off  Page SEO क्या है । 

अगर आप Blogging क्षेत्र में काम करना चाहते है तो  आपको Patience रखना होगा क्योकि इसमें एक समय के बाद  आपको  Success मिलेंगे । आपको Blogging के  चीजों जानने में समय लगेगा । जैसा की मैंने आपको बता दिया किन चीजों की आवश्यकता पड़ती है और उसमे कैसा काम होता है। ब्लॉगिंग के बारे में जानकारी मिल गई पर उनसभी को Apply करने में समय लग जाता है। अपने ब्लॉग वेबसाइट बना लिया फिर अपने ब्लॉग वेबसाइट को  Optimization  करना होता है । जिसकी मदद से वेबसाइट Search Engine के Search Result हो पता है ।

 अभी आपको और  भी चीजे है जिन्हे जानना आवश्यक है। इसको आप अच्छी तरीके तब समझोगे जब आप खुद काम करोगे और धीरे – धीरे समझेंगे इसमें काम करे के और क्या चाहिए । इस क्षेत्र हो पास से समझ पाएंगे और इसमें काम करने के आपके कुछ समय और  धैर्यता ( Patience ) की आवश्यकता पड़ती है । इस क्षेत्र में कामयाब होने के लिए  अपना Best देना होगा ।  इससे सम्बंधित सभी जानकारी आप तक पाऊ यही मेरा प्रयास है ।हम जानते है  –

Contents show

Blogging क्या है ? Blogging kya hai

मैंने  ब्लॉग लिखा और आप तक पहुंचने के लिए जो भी गतिविधि करुगा , उसे हम Blogging कहते हैं | ब्लॉग्गिंग में आप जानकारी शेयर करते हो। ब्लॉग्गिंग शुरू करने क्या होना चाहिए इसको भी जाने गए।
 
जैसे – इनका उपयोग करके  लोगो तक पहुंचते है-
Blog क्या है ? blog kya hai
जब हम अपना सारा ज्ञान या अनुभव  नोट बुक  या किताब  के माध्यम से  करते थे ,तो हम उसे  log कहते है । धीरे – धीरे समय बदला हुआ और   दुनिया डिजिटल हो गई , अब अपना ज्ञान और अनुभव इंटरनेट पर किसी मंच उपयोग करके लिखते है , तो उसे हम ब्लॉग कहते है।
  •  Log  का अर्थ है = जिस जगह सारा ज्ञान और अनुभव लिखते है ।     
  • Blog  दो शब्दों से मिलकर बना  है – (1) Web , (2) Log 
  •  Web  का  ” B ”   और Log  का ” Log “ लिआ है ।

Blogger किसे कहते है ? Blogger kise kahte hai

वह होता है , जो  Blog में  ज्ञान और अनुभव को लिखता है और  जानकारी को लोगो तक पहुंचते है । इन सभी गतिबिधि का संचालन करने वाला Blogger कहलाता हैं । जैसे आप और मै ।

Blogging Kaise Shuru  Kare  ?

ब्लॉग्गिंग करने के लिए तीन चीजों  आवश्यकता होती है ।
ii – Hosting
iii – CMS Tool

पर्सनल ब्लॉग्गिंग क्या है ? Personal  Blogging kya hai

इसमें काम करने वाले  लोग अपने विचार ( idea ) ,  शौक ( hobbies ) ,  ज्ञान ( knowledge  ) , कहानी  इत्यादि  को लोगो से share करते है । पर्सनल ब्लॉग्गिंग पर काम करने वाले कोई एक niche  या micro niche  पर काम नहीं  करते है  अगर उन्हें लगता है की इस niche या micro  niche कोई  लाभ (benefit) नहीं समझ आ रहा है , तो  वह  दूसरे niche या micro niche  काम करने लगते है ।

प्रोफेशनल  ब्लॉग्गिंग  क्या है ? Professional Blogging kya hai

Professional blogging  पर काम करने वाले लोग अपने  business  की reputation ( प्रतिष्ठा ) बनना  ही उनका उद्देश्य होता है।  इसमें काम करने वाले लोग एक ही  theme ( विषय ) काम करते है और अंत में इससे भी पैसा कमाते  है। इसमें जो भी  ब्लॉग लिखे जाते है वह business ( व्यापार ) के उद्देश्य के बारे लिखे जाते है  या फिर product या service के बारे में  होता है । यह एक विषय में काम करने वाले होते है । किसी एक क्षेत्र से सम्बंधित ब्लॉग लिखा करते है । 

Niche या Micro niche क्या है ? niche ya micro kya hai

अगर आप इस क्षेत्र में काम करना चाहते है या Career बना चाहते  है, तो पहले आप को यह निश्चित कर होगा की आप  किस  क्षेत्र में  knowledge (ज्ञान ) रखते है , उससे  सम्बंधित Niche या Micro  Niche को चुने  और  SEO  में  काफी  फायदा  मिलता  है।

Niche क्या है ? Niche kya hai 

Niche  का मतलब है , कि कोई  विषय  को चुनना होता है ,  आपके किसी विषय को चुना है उससे सम्बंधित Article लिखना शुरू कर दिया । आप उसी विषय को चुने जिसे आप जानते हो ,  उसमे अपना Best Article  लिखा पाएंगे। कई बार क्या होता हम सु विषय को चुन लेते है , जिसके बारे जानते ही नहीं। ऐसी गलती न करे। ब्लॉग्गिंग कर रहे ज्यादा से ज्यादा लोगो के पास पहुंचे जिससे हम या आप पैसा कमा  सके। पैसा कैसे कामएंगे हमारे ब्लॉग का विषय में Qulity होगी । 

जैसे – विषय आप को  चुना  है  ” Technology ”  और ब्लॉग उसी पर लिखना पसंद करते है।

Micro Niche क्या है ? Micro niche kya hai

Micro  Niche वह होता है कि Niche के अंदर के विषय को चुनना  होता है।  यह विषय की अंदर की टॉपिक को चुनना होता है । आपको विषय है और उसके अंदर टॉपिक अच्छी तरह समझते है। जैसे की अपने विषय के अंदर एक chapter ( अध्याय )  चुना है ।
 
जैसे ” technology ” के अंदर   चुना ” Computer   ” को  चुना और उस पर ब्लॉग लिखते है ।

Domain name क्या है ? Domain kya hai

blogging  Kya hai  इसके बारे जान रहे  और हम  Domain name के बारे  जानते  है । आप  इसके  बिना ब्लॉग्गिंग नहीं कर पाएंगे   क्योकि   Domain name  आपके Website का  Web address  होता है ।  इसके द्वारा विज़िटर आप तक पहुंच पाते  है अगर यह नहीं होगा तो आप तक पहुंचना संभव नहीं है। जैसे की  अगर मुझे आप के घर आना है  तो आप  के घर का   Address   पता होना चाहिए  तभी तो घर  तक पहुंच पाउगा ।
 
अगर घर  का Address  नहीं पता  होगा तो  आप के घर तक नहीं  पहुंच पाउगा  । ” Domain name ” internet  की दुनिया  में  आप तक पहुंचने  का Address  होता है। जब आप डोमेन लेते है तो  अधिकतम 14 अंक होना चाहिए  जितना छोटा हो उतना अच्छा रहता है । अगर डोमेन  खरीदना है आप यह से ले सकते है।

 Sub Domain क्या है ? Sub Domain Kya Hai

यह Free  मिलता है । यह डोमेन नाम मुख्य डोमेन से मिलकर बनता है । यह डोमेन मुख्य डोमेन के द्वारा काम करता है । जैसे की मेरी वेबसाइट मुख्य URLs https://online4website.com है । इसे हम कस्टम डोमेन बोलेगे बोलेगे  । जो हमारा Sub-Domain Name मिलकर बनेगा वह मुख्य डोमेन मिलकर बनेगा  , जैसे की sub-domain होगा , subhash.online4website.com इसे हम Sub Domain बोलेगे ।
 
Sub Domain का जो भी डाटा होगा वह मुख्य Custom  domain के सर्वर में Save होता है । इसका उपयोग सीखने Purpose  आप इसका उपयोग कर सकते
है । ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में कमयाब होना है तो Custom  domain  का उपयोग करे ।
 
Sub Domain भी दो प्रकार के होते है। एक वह Sub Domain होता है ,  जिसमे किसी ऐसे प्लात्फ्रोम का उपयोग कर रहे है । जहा Domain की आवश्यकता होती है। अगर हम Investment करके के ब्लॉग्गिंग करना चाह रहे है , तो  Custom  domain का उपयोग कर सकते है , पर हम चाहते है अच्छी तरह से जानने के बाद कोई Investment करेंगे  तो आप वह पे Sub Domain का उपयोग करके स्टार्ट कर सकते है।
 
दूसरे प्रकार Sub Domain है , यह  Custom  domain के द्वारा Create करते है। इसे हम  तब Create करते है , जब हमें इसकी आवश्यकता पड़ती है । किसी दूसरे Niche काम करना है , और भी कारण हो सकता है ।   
 
इसमें बिना किसी निवेश के blogging शुरू करना चाहते तो blogger.com  के द्वारा शुरू कर सकते है और हमें blogger.com के द्वारा फ्री  sub  domain  मिलता है  । जब आप  Custom  domain ,  web  hosting   खरीदते है  तो  उसके साथ sub domain  फ्री मिलता  या नहीं भी मिलता  अगर आप को  sub-domain भी चाहिए तो  जिस वेबसाइट से Custom  domain , web  hosting खरीद रहे  उनके   plan देखे की उसमे शामिल या नहीं । Sub -domain को  उदाहरण  से समझते है

(b) Custom Domain क्या है ? Custom Domain Kya Hai

Custom Domain यह मुख्य Domain  Name  होता है । इसका उपयोग Maximum Point  पर Website बनाने के लिए किया जाता है । आप जोभी इंटरनेट पर Videoदेखा पाते  है , Article पढ़ पाते है ,  Audio सुन पाते है या जो भी इंटरनेट पर मौजूद है । यह सभी चीजों को Custom Domain , इंटरनेट के माध्यम से वह आप तक पहुँचता है ।
 
आप जिस भी डाटा देखने , पढ़ने या  सुनने के लिए अपने Search Engine पर Keyword Type किया है । Search Engine क्या करता है की वह डाटा जिस भी  Custom Domain में  Available होता है । उस Custom Domain को Signal  भेजता है । Custom Domain आपके Web Server उस डाटा को Collect करता है। फिर वह इंटरनेट के द्वारा आपका पंहुचा पता है । यह सब Custom domain के द्वारा आप देखा पाते हो । 
 
Custom Domain  का भी उपयोग दो तरह से किया जाता है । पहला तो आप जब अपनी खुदकी या अपने Client  के लिया Website , Create  कर रहे है तब । दूसरा तब जब आप किसी ऐसे  प्लेटफार्म का उपयोग कर रहे है , जहा Domain  Name की आवश्यकता होती है तो वह पर आप Custom Domain का उपयोग कर सकते है । जैसे की  blogger.com , wordpress .com ,  wordpress.org , wix.com  इत्यादि  ।  
 
आप ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में Growth करना चाहते है , आपको  Custom Domain  का उपयोग करे । Custom domain का  उपयोग  किसी ब्लॉग्गिंग Platform में  कर रहे है । आप वेबसाइट में Convert  करना चाहते है , तो आपके पास यह भी विकल्प रहता है  । आप उसे वेबसाइट में Convert  कर सकते है , वह  कैसे  वह https://online4website.comसे की आपके पास Custom Domain  है  और सिर्फ आपको Web  Hosting  की आवश्यक होती है । वेबसाइट के डाटा स्टोर करने के लिए Web Server लेकर और उसे डिज़ाइन करके , उसमे ब्लॉग्गिंग करना शुरू कर सकते  है । 
 
Custom domain को खरीदना पड़ता है ।  इसके मालिक आप होते है।    जब भी Custom Domain ले कम से  कम  2  साल   के लिए  ख़रीदे । आपके Domain  Age  कितनी है यह  भी मायने रखता है  । जितनी ज्यादा Custom Domain  की  Age  होगी  उतना  आपके लिए फायदे मंद होगा क्योकि SEO  के लिए  अच्छा होता है ।     

Web hosting क्या होती है ? Web Hosting Kya Hoti Hai

Web Hosting कंपनी आपके लिए एक Web Server का बुक करती है । जहा आप अपने वेबसाइट का  सारा  डाटा स्टोर कर पाए  । वह  24/7  इंटरनेट से जुड़ा होता है। डाटा का मतलब है  जैसे की images ,  video , pages  आदि  save  करना पड़ता है। जब भी User आपके वेबसाइट का डाटा का उपयोग करना चाहे तो वह  डोमेन के माध्यम से Web Server से डाटा को लेकर आप तक पंहुचा पाए  है । Web Hosting कंपनी जिस जगह आपका डाटा सेव करती है , वह Web Server होता है । यह Web Server एक Power Full Computer होता है ।  

अगर आप चाहो तो अपने Computer को Web Server बना सकते है बस आपको अपने कंप्यूटर को  Private से Open Source में परिवर्तित करना पड़ेगा । आपका कंप्यूटर को Open  Source करना पड़ेगा और 24/7 आपका Computer को Internet से Connect रहना पड़ता है ।  जब चाहे User  डाटा को उपयोग कर पाए । इसका मैनेजमेंट आपको देखना पड़ेगा ।जैसे की Website के डाटा  Sequrity , Severe Attack  ( Hack) , Coding इत्यादि ।

Computer आपका 24/7  Open रहे । तभी तो User आपके वेबसाइट के Content  को उपयोग कर पायेगा । अगर कंप्यूटर में कोई दिक्कत हुई तो आपके वेबसाइट पूरा Content Delete हो जायेगा । यह थोड़ा Risky होगा । 

Web Hosting कंपनी से अपनी वेबसाइट को  host  करते है , तो  सारा Management , Web  Hosting कंपनी  का होता है । कोई दिक्कत आती है तो  बात करके ठीक कर सकते है।  जिस जगह से वेबसाइट को Host  करते  है , उस कंपनी के बारे में जानकारी ले की उनकी  Service  कैसी है ,   Customer Support कैसा है  , कंपनी का Future Plan  क्या है , कितने सालो से काम कर रही है  इस क्षेत्र में  । सब कुछ सही हुआ तो आप वह से  Buy कर सकते है ।  सस्ती के चक्कर  में आप गलत कंपनी से न ख़रीदे। आपको दिक्कत हो सकती है ।                                                                                                                   

जब आप Domain  Name  खरीदेंगे  तब आपको Web Hosting  खरीदना बढ़ेगा । यह तब करेंगे जब आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाते है तब । आप ऐसे  मंच (Platfrom) से ब्लॉग्गिंग शुरू कर रहे है।  जहा Web Hosing  की खुद प्रदान कर रहे है तो अलग से Web Hosting  नहीं लेना  पड़ेगा । यह से आप  वेब होस्टिंग खरीद सकते है ।

Web Hosting कंपनी एक ही  Web Server पर कई Website  Run करती  हैं और  एक ही CPU  का उपयोग करते है , तो इसलिए  Share hosting कहते और यह सस्ती होती है । यह Hosting  शुरुआत करने वालो के लिए सही होती है । क्यों होता है शुरू में क्योकि शुरू में इतना आपके वेबसाइट में Traffic नहीं आता है । आप आपके ब्लॉग में ज्यादा Visiter आने लगे आप इसे VPS Hosting में बदल दे । क्योकि Share hosting ज्यादा Traffic को Handle नहीं कर सकता है । 

Dedicated  hosting क्या है ?- Dedicated Hosting Kya Hai

इस Hosting  में  एक ही Website  Run  होती है । आप के लिए एक अलग से CPU की व्यस्था करता है और आप जैसा चाहेंगे वैसा ही  CPU तैयार करते है।  इसलिए  यह hosting  महगी होती है । Website जल्दी load होती है ।

Virtual  Private  Server Hosting क्या है ?- VPS Hosting Kya Hai

यह Hosting  एक प्रकार से   Dedicated  hosting  जैसे होता और इसमे भी  सिर्फ आपकी Website  ही Run  होगी । इसका पूरा Control  आप के  पास  होता  है  , यह Real  में नहीं  होता मगर आप के लिए Service  उपलब्ध  करता है ।  यह Dedicated hosting  के अंदर  कई VPS  Hosting तैयार किया  जाता है  । यह सस्ता होता है Dedicated Hosting  से ।  यह Share  Hosting से महंगा होता  है। यह परिवर्तनशील होता है आवश्यकता के अनुसार बड़ा घटा सकते है ।

Cloud Hosting क्या है ?- Cloud Hosting Kya Hai

इस होस्टिंग  के अलग – अलग  क्षेत्र में खुद के Dedicated Hosting   होती है। यह अपने सभी Dedicated Hosting   से connected  रहता है, मान लीजिए कोई एक क्षेत्र का  सर्वर डाउन है तो दूसरी जगह  के Dedicated hosting से सेवा  देना  शुरू कर देगा । इस होस्टिंग से होस्ट वेबसाइट  जल्दी खुलती  है । 

Blogging  शुरू करने के लिए कौन – कौन से CMS  Tool  है ?

CMS  Tool

यह Content Management System है । इसके द्वारा आप आपके वेबसाइट के अंदर बदलाव  करना चाहते है । चाहे  Website को Design करना हो , Post लिखना हो , कोई Function Add करना हो  आपको को वेबसाइट करना है । इसके द्वारा कर सकते है –

(a) Blogger.com क्या है ?- blogger.com kya hai

यह Tool Googleका है और  यह  एक FreePlatform  हैइसमें  बिना किसी Investment के शुरू कर सकते है Blogging  Kya Hai  नहीं जानते है , अगर  क्षेत्र  में नये है और अभी इस क्षेत्र को सही से नहीं जानते है , तो  Blogger.com आप के लिये  Best  है । इसमें काम  शुरू करने के  लिए  अलग से  Web Hosting   , Domain Name ,  Security की आवश्यकता नहीं  पड़ती हैये  सब  कुछ Google  हमें   प्रदान करता है ।
 
सभी Content आपके Google  में   Save रहते है इसमें काम करने के लिये  2  चीजों  की आवश्यकता होती है । जैसे की  Email Id  और Domain की आवश्यकता पड़ती है ।  इसमें  Email  Id जो होगी  Gmail.Com  की होनी  चाहिए  और  Domain की जगह आप Sub Domain या Custom Domain  दोनों में किसी का उपयोग कर सकते है ।
 
Sub Domain आपको   Blogger.com  के द्वारा Create कर सकते है ।  Blogger.com के द्वारा यह Free में   Sub Domain  बना  सकते है ।  एक सीमा  तक  ब्लॉग Web Page को customized  कर सकते है। blogger.com से भी  पैसा कमाते  है । इसमें Custom domain  का उपयोग करके  ब्लॉग्गिंग कर सकते है । हमें लगता है की वेबसाइट   में परिवर्तित करना चाहिए तो Convert कर सकते है ।
 

(b) WordPress.org क्या है ?- WordPress.org kya hai

इसका  उपयोग  Website  बनने के किये  किया  जाता है। आप जैसा चाहते है वैसा क्रिएट कर  सकते है । इसमें काम करने लिए एक बेसिक  नॉलेज  होना  आवश्यक है । WordPress.org  यह एक  C.M.S.  (Content management system ) है । इसके  द्वारा निश्चित कर  सकते है की वेबसाइट कैसे दिखेगी।   इसमें  भी blog  लिखा सकते है और इमेजे , वीडियो  को भी अपलोड कर सकते है ।
 
इसमें काम करने के लिए  कस्टम डोमेन , वेब होस्टिंग की आवश्यकता  पड़ती है  इसके बिना  काम शुरू नहीं किया जा सकता है और security ( सुरक्षा ) की जिम्मेदारी स्वयं  की होती है ।  wordpress.org को  फ्री  में उपयोग कर सकते हैऔर इसमें  theme  और plugins  उपयोग करने  के लिए फ्री में बहुत सारे  मिल जाते है । हम कुछ  चीज बारे  में जान ले –

Theme 

Theme   के  द्वारा निर्धारित किया जाता है की   Website  कैसे दिखेगी उसका Font  Color  कैसा  रहेगा  , कैसा  रहेगा  Header और  कैसा  रहेगा  Footer  बाकि  चीजों अपने अनुसार Change  कर सकते है  ।

Plugins  

इसका   उपयोग  नये Function को जोड़  के लिए  किया  जाता  हैं  चाहे वह  Website  Design, Contact Form ,  Website  Security , Social  share  , Slider , Image  Compressor  ,  SEO  Tool  इत्यादि  जोड़ सकते है।  

Post  

इसका उपयोग  Blog  लिखने के लिए किया जाता  इस Tool का Use  करके   ज्ञान  या  अनुभव  लिखा  सकते है इसे  Public  करके लोगो तक पंहुचा  सकते  है । Image  और  Video  का उपयोग  कर सकते है।
 
Media  

इसमें के द्वारा आप Image या Video को Upload  कर सकते है। जिसे हम अपने वेबसाइट और अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए  उपयोग कर सकते है ।

Website Builder

हमने जाना की Blogging  kya  hai  , Domain Name , Hosting Kya Hai , Niche , CMS  Tool  क्या  होता है । अब Website  को Building  कैसे करे अगर आप  WordPress के द्वारा वेबसाइट  Create कर रहे  है तो आप Plugin  Install करके Website Builder के द्वारा  कर सकते है ।  Website Builder के नाम है ,  Elementor Website Builder, Page Builderइनमे से किसी का उपयोग करके Website को Design  कर सकते है ।

 

Wix.com क्या है ?- Wix.com kya hai

Blogger.com जैसा होता है  इसमें Website  बनाना  आसान होता है । सामान्य ( basic  ) ज्ञान आवश्यकता  होती है ।  फ्री वाले प्लान में sub-domain का  उपयोग करके काम शुरू कर सकते है।    wix.com  के ads ( विज्ञापन ) आपके blogging  website  में रन  होंगे । अगर  पैसा कामना चाहते है तो paid  plan  उपयोग कीजिये जिसमे wix.com के ads ( विज्ञापन )  हटा सकते है, Google  ads  की मदद अपने ads  लगा सकते है । वही से  आप एक custom domain खरीद सकते है । जब भी plan  चुने  उसे ध्यान से देख ले  जो आप चाहते है यह उसमे शामिल है । 

 

SEO Kya Hai Aur Kyo Kiya Jata hai?

SEO में हम Search Engine के हिसाब से तैयार करना होता है । जब आप Search Engine के Requirement अनुसार तैयार करते है  , तो आपकी  Website और Content  , Search Engine के Search Result में Show होता है । जब आपके Website  के Content , Search Engine में Show होगा तभी तो Visiter आपके वेबसाइट तक पहुंच पाएंगे । SEO दो प्रकार से करते है । 

On Page SEO 

इसमें On Page SEO में हम Search  Engine के Requirement के अनुसार  Optimization करते है । हमारी  वेबसाइट Search  Engine  में Show  करने आप जो- जो करते है उसे On Page SEO कहते है ।

Off Page SEO 

Off Page SEO में आप अपने वेबसाइट दूसरे Social Media  Platform  या website में अपने वेबसाइट के लिए Optimization करते है , उसे Off Page SEO कहते है। इसमें अपने Website  के लिए Backlink बनाते है , दूसरे वेबसाइट पर । 

Blog Post लिखने के लिया क्या आवश्यक है ?

इसमें जानते है जब ब्लॉग पोस्ट लिखते के लिया करना पड़ता और क्या करना होता है । इसमें बारे में जानकारी लेते है । आप  blogging Kya  Hai  करीब से जानेगे।

Topic Blog Post 

आपको Topic का  चुनाव करना पड़ता है । जिस  टॉपिक पर लिखा रहे है ब्लॉग लिखने वाले है , उसके बारे में Research  करना पड़ता है । उस विषय पर लोगो का कितना Interest है । अगर उस विषय पर लोगो का Interest है तो अपने वेबसाइट एक अच्छा Traffic ला सकते है । 

Keyword Research क्या है ?

कीवर्ड  Research में हम यह देखते है की उस Keyword को कितने  लोगो Search Engine उसे Search कर रहे है । कीवर्ड रिसर्च के आधार पर पोस्ट  या टॉपिक काम करना शुरू करते है । इसके मदद दे यह निश्चित करते है , की किस Keyword पर अपने Content को Rank करना है । Keyword  research के बिना आपका  Article को Rank नहीं करा सकते है । 

Post kaise likhe

जब हम ब्लॉग लिखा रहे है  अपने कीवर्ड  भी शामिल करे , आप जसि कीवर्ड पर रैंक करना चाहते है ।   जब Post  लिखे  मुख्य  Heading  आपकी h1 रहती है  और H1 को एक बार उपयोग किया जाता है   , जब आप पोस्ट लिखना शुरू करते है उसमे जो  Heading  डालेंगे तो उसे  H2 से लेकर H6 का उपयोग कर सकते है ।   जो Blog Post लिख रहे है उसमे  1- 1.5% keyword  उपयोग  करना चाहिए , जिस कीवर्ड पर रैंक करना है । ब्लॉग पोस्ट लिखते समय उसके अंदर Image को भी डालना चाहिए ।  जैसे की   Article  लिख रहे है उसके  Total  Word  1000 या 500 है ? (a) 1000*1.5% = 15 बार keyword होगा । (b) 500*1.5% =  7 या 5 बार keyword  होगा  ।
 

Featured  Image

 

Featured Image1

 

इसमें Image को डालते ब्लॉग पोस्ट का  यह Cover image है । इसे डालना  जरुरी होता है , यह Title Tags निचे यह  Image  होती है । 

 

blogging se paisa kaise kamate hai

blogging Kya Haiऔर किन चीजों की आवश्यकता होती है। इसके बारे में जान चुके है। आइये हम जानते है पैसा कामना चाहते है। अगर इनकम करनी है तो गूगल adsense का approval मिलना आवश्यक है। ads के द्वारा पैसा कमाते है। जब आप किसी की वेबसाइट को खोलते है। वह पर देखते है की उनके वेब पेज पर ads लगे हुए दिखते है। उन्ही के एड्स द्वारा ब्लॉगर पैसा कमाते है। एफिलिएट मार्केटिंग करके पैसा कमाते है। एक बात और आप से शेयर करना चाहता हूँ की जब आपके वेबसाइट में एड्स दिखने लगे तो स्वयं साइट को ओपन न करे अगर google adsense लगा की स्वयं खोल रहे है तो आपके साइट में एड्स दिखाना बंद कर सकता है। अगर आपको कुछ देखना है तो एडमिन अकाउंट से लॉगिन करके देखे।
 

(7) इन Topic से सम्बंधित कुछ Youtub Video  आपके लिए ?

इस ब्लॉग पोस्ट में जिन  youtube  वीडियो  का link  share  किया है मैं उन सभी youtuber का धन्यबाद करता हूँ  –

नोट -> अगर आप कोई टॉपिक या मन में कोई सवाल ( question ) है तो इस link पर  क्लिक करके सवाल कर सकते है ।

 

 

[metaslider id=397]

 

 

 

Subhash Dubey
Follow me

Spread the love
  • 20
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  
    20
    Shares
  •  
    20
    Shares
  • 20
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •   
  •  

7 thoughts on “Blogging kya hai Kaise Shuru Kare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *